हादसा नहीं हत्या है गोरखपुर अस्पतालों में बच्चों की मौत ,नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा

उत्तर-प्रदेश में रामराज्य लाने का दावा करने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खुद के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर में हुई एक घटना ने उनके दावे की पोल खोल दी है।
Photo Credit: TheBetterIndia

बाबा राघव दास हॉस्पिटल में ऑक्सीजन सप्लाई की कमी की वजह से पिछले 48 घंटे के दौरान 36 नवजातों की मौत ने सबको झकझोर कर रख दिया है।अगर मीडिया की रिपोर्ट की मानें तो पिछले 5 दिनों में लगभग 60 से अधिक नवजातों की मौत हुई है|

 मगर सरकार और प्रशासन अपनी किसी भी लापरवाही और कमी से पल्ला झाड़ रही है।

सरकार और मंत्री का उल्टे विपक्ष पर आरोप
इस घटना की जिम्मेदारी लेने के बजाय सरकार सारा ठिकरा पिछले 10 वर्षों के अखिलेश सरकार के शासन पर फोड़ना शुरू कर दिया है।

जरुर पढ़ें- नीतीश जी का DNA पहले खराब था या अब है, देश को बताएं मोदी जी ....तेजस्वी यादव ने किया सवाल 

यह हादसा नहीं हत्या है-नोबेल विजेता
नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी में कहा कि बिना ऑक्सीजन के 30 बच्चों की मौत हादसा नहीं, हत्या है। क्या हमारे बच्चों के लिए आजादी के 70 सालों का यही मतलब है।


इसके अलावा उन्होंने एक और ट्वीट में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील करते हुए लिखा है कि आपका एक निर्णायक हस्तक्षेप दशकों से चली रही भ्रष्ट स्वास्थ्य व्यवस्था को ठीक कर सकती है ताकि  ऐसी घटनाओं को आगे रोका जा सके।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का अस्पताल में दौरा
कुछ दिनों पहले सीएम योगी आदित्यनाथ इस अस्पताल के दौरे पर गए थे| सूत्रों के अनुसार योगी लगभग 5 घंटे वहां ठहरकर अस्पतालों के हालात का जायजा भी लिया था|

जरुर पढ़ें- बीजेपी शासित राज्यों से चोरी हुई EVM मशीनें, आरटीआई से हुआ खुलासा

विपक्ष का योगी सरकार पर हमला
उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के बाद प्रशासन सवालों के घेरे में हैं. यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा है कि बच्चों की मौत ऑक्सीजन की कमी की वजह से हुई है. उन्होंने कहा कि योगी सरकार अपना काम नहीं कर रही है, सीएम के दौरे बावजूद भी ये हादसा हुआ जिससे दिल दुखता है|
इससे पहले गुलाम नबी आजाद और राज बब्बर समेत कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल भी BRD मेडिकल कॉलेज पहुंचा है, गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि ये मौत नहीं हत्या है जो सरकार की लापरवाही के कारण हुई है. आजाद ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री से इस्तीफे की मांग की है.

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा है कि बतौर गोरखपुर के सांसद और राज्य के सीएम, योगी आदित्यनाथ को नैतिकता के आधार पर उन्हें इस्तीफा देना चाहिए.


Timesnow के पत्रकार का शर्मनाक बयान
इसी बीच टाइम्स नाउ चैनल के एक पत्रकार का विडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है| इस विडियो में चैनल के एंकर ने सपा के प्रवक्ता को यह कहते दिख रहे हैं कि आप गोरखपुर की घटना का जिक्र करके वन्दे-मातरम जैसे महत्वपूर्ण मुद्दे से ध्यान भटका रहे हो|
 


मौत की वजह का कोई स्पष्टीकरण नहीं
प्रशासन ने अभी तक मौत की कारणों का कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया है | लेकिन ABPNews की मानें तो मौत की असली वजह ऑक्सीजन सिलिंडर की कमी है| ABPNews ने ट्वीट  BRD मेडिकल कॉलेज के कर्मचारियों द्वारा लिक्विड आक्सीजन की कमी को लेकर लिखी गई चिट्ठी को ट्वीट किया| 



वेदांक सिंह ने ऑक्सीजन सिलिंडर ले जाते हुए एक विडियो को ट्वीट करते हुए कहा, "अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी नहीं थी तो भोर में ही भारी संख्या में ऑक्सीजन टैंकर क्यों मंगवाए गए गोरखपुर? सच पर परदा डालना और भी शर्मनाक है।"


Share Your Views Below In Comment Box


Powered by Blogger.